CRGB Officers' Organisation

One for All and All for One

Blog

होम लोन पर जारी रहेगी टैक्स छूट ??

Posted by Baghel on January 10, 2010 at 11:23 AM

होम लोन पर जारी रहेगी टैक्स छूट ??


मकान खरीदने की तैयारी कर रहे लोगों और रियल एस्टेट कंपनियों के लिए एक अच्छी खबर है। संभावना दिख रही है कि सरकार होम लोन पर मिल रही कर छूट जारी रखेगी ताकि डायरेक्ट टैक्स कोड का नया मसौदा आम आदमी की नजर में अधिक आकर्षक हो। वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, 'हम डायरेक्ट टैक्स कोड के उन प्रावधानों पर विचार कर रहे हैं जिनका सीधा सरोकार आम आदमी से है।'


इस समय, होम लोन के जरिए मकान खरीदने वाले करदाताओं को उस कर्ज पर चुकाए गए ब्याज को अपनी आमदनी में से घटाने की इजाजत होती है। हालांकि इसकी सीमा सालाना डेढ़ लाख रुपए तक होती है। इसके अलावा कर्ज की मूल राशि के रीपेमेंट को भी आयकर की धारा 80सी के तहत उपलब्ध छूट के दायरे में शामिल करने की इजाजत होती है। इसकी अधिकतम सीमा एक लाख रुपए होती है।


सरकार ने कुछ महीने पहले प्रत्यक्ष कर प्रणाली में व्यापक सुधार का प्रस्ताव रखा था और उसके लिए डायरेक्ट टैक्स कोड का मसौदा जारी किया जा चुका है। इस मसौदे में धारा 80सी के तहत छूट की सीमा बढ़ाकर 3 लाख रुपए करने का सुझाव दिया गया है, लेकिन छूट के लिए उपयुक्त व्यय/बचत की सूची में होम लोन पर ब्याज भुगतान या कर्ज की मूल राशि के भुगतान को शामिल नहीं किया गया है।


होम लोन पर उपलब्ध कर लाभ खत्म करने के इस कदम पर गंभीर आपत्ति जताई गई है। अधिकारी ने बताया कि प्रत्यक्ष कर से जुड़ा निकाय यह सोच रहा है कि सरकार को कुछ और समय के लिए यह छूट जारी रखनी चाहिए।


केपीएमजी के पार्टनर विकास वासल के अनुसार , 'सरकार को यह छूट पहले मकान या कम से कम एक मकान पर यह छूट जारी रखनी चाहिए क्योंकि इस देश में मकान मालिक होना अब भी तमाम लोगों के लिए स्वप्न ही है।'


वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने पहले ही संकेत दे दिया है कि उनका मंत्रालय नए डायरेक्ट टैक्स कोड के विवादित प्रावधानों की समीक्षा करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा था, 'मैंने कुछ प्रस्ताव डायरेक्ट टैक्स कोड के रूप में रखे हैं, लेकिन यह भगवद्गीता नहीं है। और ऐसा नहीं है कि इसे बदला नहीं जा सकता।'


अगर 30 फीसदी के अधिकतम टैक्स स्लैब में आने वाला कोई व्यक्ति होम लोन पर अधिकतम कर छूट लेता है तो सरकार को कर के 77,000 रुपए से हाथ धोना पड़ेगा.


आप का समय शुभ हो और


अपनी अगली मुलाकात तक के लिए अलविदा  


बघेल बी. एस.


 


Categories: None

Post a Comment

Oops!

Oops, you forgot something.

Oops!

The words you entered did not match the given text. Please try again.

Already a member? Sign In

0 Comments